Thu. Apr 18th, 2024


Manisha Rani luck shines as reaches JDJ 11 finale get Vivek Ranjan Agnihotri support her- India TV Hindi

Image Source : X
मनीषा रानी को मिला विवेक अग्निहोत्री का सपोर्ट

 

‘झलक दिखला जा 11’ अपने ग्रैंड फिनाले की ओर बढ़ रहा है। शो के टॉप फाइव में शोएब इब्राहिम, श्रीराम चंद्रा, मनीषा रानी, अद्रिजा सिन्हा और धनश्री वर्मा हैं। लोकप्रिय कंटेंट्स शिव ठाकरे दौड़ से बाहर हो गए हैं। शो में मनीषा रानी ने अपने स्टाइल, डांस और कॉमेडी से लोगों को बहुत हंसाया है। सोशल मीडिया पर चर्चा है कि मनीषा रानी शो भी जीत सकती हैं, लेकिन एक वाइल्डकार्ड के लिए ‘झलक दिखला जा 11’ जैसा रियलिटी शो जीतना थोड़ा मुश्किल है। शो में उन्होंने बताया कि कैसे उनके पिता ने अकेले ही उनकी बहन और उनकी परवरिश की जब उनकी मां ने उनका साथ छोड़ दिया था।

विवेक अग्निहोत्री ने मनीषा रानी की तारीफ

‘द कश्मीर फाइल्स’ के निर्माता विवेक अग्निहोत्री ने लिखा कि ‘भारत के छोटे शहरों से आने वाले भारतीयों की सफलता के बारे में जानकर वाकई बहुत खुशी होती है।’ विवेक अग्निहोत्री ने आगे कहा, ‘प्रतिभाशाली मनीषा रानी जिनके पास कभी कोई संसाधन नहीं था और कोई उम्मीद नहीं थी। आज वह एक सोशल मीडिया सनसनी और सबसे कम उम्र की हस्तियों में से एक हैं। मनीषा रानी के बारे में जो बात मुझे बहुत अच्छी लगी और उम्मीद देती है कि उन्होंने 11 अनाथ बच्चों के लिए बहुत अच्छे काम किए हैं।’ 

 

यहां देखें पोस्ट-

मनीषा रानी की चमकी किस्मत

सोशल मीडिया यूजर ने मनीषा रानी का सपोर्ट करने पर और उनके संघर्ष को समझने के लिए फिल्म निर्माता का धन्यवाद किया है। बता दें कि एक एपिसोड में, उन्होंने बताया कि कैसे उनके पिता ने उन्हें हमेशा प्रोत्साहित किया है। अगर वोट के हिसाब से देखा जाए तो मनीषा रानी को शो जीत सकती हैं। बिग बॉस से बाहर आने के बाद से मनीषा की किस्मत चमक गई है।

मनीषा रानी के बारे में

बता दें कि टिक-टॉक और इंस्टाग्राम पर रील्स बनाने के बाद मनीषा रानी को ‘बिग बॉस ओटीटी 2’ में देखा गया था। मनीषा मुंगेर शहर के शादीपुर की रहने वाली हैं। पिता मनोज कुमार चंडी पेशे से ट्रांसपोर्ट कूरियर संचालक हैं। मनीषा चार भाई-बहनों में तीसरे नंबर पर हैं। मनीषा रानी इन दिनों अपने डांस से ‘झलक दिखला जा 11’ में धूम मचा रही हैं। 

ये भी पढ़ें:

अभिषेक कुमार के क्रिप्टिक पोस्ट से यूजर के बीच मची हलचल, जलने वालों पर साधा निशाना

विवेक ओबेरॉय भी सुशांत सिंह की तरह मौत को लगाने चाहते थे गले, डार्क फेस पर बयां किया दर्द

शाहरुख खान की ‘कभी हां कभी न’ के पूरे हुए 30 साल, इस दिवंगत डायरेक्टर को याद कर हुए इमोशनल





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *